Astrology, Horoscope Articles

प्रोसेस ऑफ़ सरस्वती पूजा

सरस्वती  पूजा  का  तात्पर्य कहा जाता ह  देवी  सरस्वती  के  वीणा  की  धुन  इंसान  की  अंततरात्मा  के  अंदर छुपे  “ॐ ” को  तक  को  चु  जाती  है . और  इंसान  को  एक  अदभुद  शांति  और  सुकून  का  एहसास  होता  है .देवी  सरस्वती  को  पढ़ाई , बुध्दि , एकता , संगीत   की  सबसे  बड़ी  देवी  माना  गया  है .समस्त  संसार  इन्हें  से  जन्मा  है .उन्हें   सभी  वेद ,  उपनिषद , नटर्य  [Read More..]

Category: How to do
Feb, 25 2017 06:05 pm

What are the Adhika Maas 2015 Dates

An extra month is added into lunar calendar in every third year. Adhik Mass, Mal Mass, Purushottam Maas, Malimmacha etc are the various names of this extra month. A lunar calendar generally consists of twelve months but this is the thirteenth month of the calendar. It is very surprising to know that a lunar calendar consists of eleven months in a very rare case. It occurs once in every 140  [Read More..]

Category: Puja

दुर्गा पूजा की कार्यविधि

दुर्गा पूजा का महत्व दुर्गा शब्द की उत्पति संस्कृत शब्द से हुई है जिसका अर्थ है “दुर्गम” अर्थात जिसे पाना कठिन  हो | हिन्दू धर्म के अनुसार माँ दुर्गा इस दुनिया के मुक्तिदाता और सभी देवियों की जननी मानी जाती है | माँ दुर्गा प्रेम, क्रोध, क्रोध, शक्ति के देवी मानी जाती हैं | वह खूंखार शेर पर सवार है और इसलिए, सिंह वाहिनी के रूप में जाना जाता है।  [Read More..]

Category: How to do

महालक्ष्मी पूजा की कार्यविधि

आपके जीवन मैं  महालष्मी पूजन  से  वित्तीय स्थिरता आती है | यह पूजन,आशीर्वाद और जीवन में विभिन्न भौतिकवादी के लिए की जाती है । इस पूजा से जीवन से सारी बुरा प्रभाव और अंधेरा हैट जाता है । देवी महालक्ष्मी, लक्ष्मी या लक्ष्मी के रूप में जानी जाती  है जो  धन, सौभाग्य, समृद्धि, वित्त, सुंदरता के हिंदू देवी है | यह भगवान विष्णु की पत्नी है और विश्वास के अनुसार;  [Read More..]

Category: How to do

बगलामुखी माता की पूजन विधि

माता बगलामुखी की पूजा के लाभ | बगलामुकी माता की पूजा से आप पे एवं घर पे कोई भी मुसीबत नही आती, यह पूजा एक रक्षा कवच की तरह काम करती हैं जो आपके जीवन मैं दुश्मनो की बुरी नज़र को दूर रखती हैं |  यह पूजा न सिर्फ बुरी नज़र को बलकी क़ानूनी समस्याओ से नीजात पोहचाती हैं , बुरी दुर्खटनाओ और आप्रकृतिक घटनाओ से भी बचती हैं|ऐसा मन   [Read More..]

Category: How to do
Feb, 21 2017 10:48 am

कैसे करें हनुमान पूजा जयंती पे और पूजन कार्यविधि ?

कैसे करें हनुमान पूजा जयंती पे और पूजन कार्यविधि ? हनुमान पूजा से आपको कई लाभ एवं कई सकारात्मक बदलाव की अनुभूति प्राप्त होती हैं | ऐसा मन  जाता हैं की हर हिन्दू को ईश्वर  की भक्ति करना चाहिए क्योंकि ईश्वर की कृपा सकारात्मक रूप से लाभ देती हैं , पूजा न सिर्फ सकारात्मक बदलाव लाती हैं बल्कि जीवन मैं से नकारात्मकता को भी भर कर देती हैं | इन  [Read More..]

Category: How to do

कात्यायनी पूजा की कार्यविधि

कात्यायनी पूजा की कार्यविधि माता कात्यानी की पूजा विवाह सम्बंधित समस्याओ के लिए की जाती है | ईश्वरकृपा के लिए अन्य और भी पूजाए हैं, परंतु मनोरथ की पूर्ति के लिए हमे सभी देवी देवताओ के आशीर्वाद की आवयश्कता होती है | अतः ऑनलाइन कई सारी पूजा की सुविधा उपलब्ध है | उद्धरण के लिए जैसे  धन के लिए पूजा, सुख शांति के लिए पूजा, बाधाओ को दूर करने के  [Read More..]

Category: How to do

उमा महेश्वी पूजा की कार्यविधि

खुशाल वैवाहिक जीवन के लिए उमा माहेश्वरी की पूजा की जाती है | यह हर किसी की मनो कामना होती है की उनका वैवाहिक जीवन बहुत खुशाल रहे, परंतु   कई बार वैवाहिक जीवन में मन चाहा  सुख प्राप्त  नही होता है और कई सारी परेशानियों का सामना करना पड़ता हैं | इन सभी परेशानियों  को दूर करने के लिए और खुशाल जीवन के लिए उमा माहेश्वरी  की पूजा पूरी विधि  [Read More..]

Category: How to do

प्रोसेस ऑफ़ श्रीसूक्त पूजा

शक्तिशाली देवी  लक्समी को  कैसे  प्रसन  करे  हिन्दू  सभ्यता  मे  भगवन  और  देवियो  को  प्रमुख  इस्थान  दिया  गया  है . किसी  भी  देवी  या  देवता   की   पूजा  विधि  अनुसार  करके  उन्ह  खुस  कर  देते  है  तोह  उनके  हम  पे  अपनी  असीम  कृपा  और  आशीर्वाद  बना  रहता  है . हमारी  ज़िंदज़गई  की  सभी  बधयोह और  मुश्किलो  को  दूर  कर  देते  है .इन्नी  सब  चीज़ों  के  कारन  एक  हिन्दू  परिवा r के   [Read More..]

Category: How to do

प्रोसेस ऑफ़ सत्यनारायण पूजा

तात्पर्य सत्यनारायण पूजा का भगवान विष्णु जोह की दुनिया के रचियता है उन्ह प्रसन करने का सबसे आसान तरीका है सत्यनारायण पूजा.इस पूजा से उनका आशीर्वाद हमे मिलता है.सत्यनारायण पूजा करने से हमारे जीवन की परेशानिया भी कम हो जाती है और अगर हमे कोई एक विशेष  मांगनी हो विष्णु भगवान  से तब  भी सत्यनारयान पूजा की जाती है जैसे की अच्छा कैरियर ,शादी, बच्चे, पैसा पढ़ाई आदि .अगर जीवन  [Read More..]

Category: How to do

पित्र दोष निवारण पूजा

अस्तित्व पित्र दोष निवारण पूजा का पित्र हमारे मरे हुए पूर्वजो को कहा गया है.पित्र भगवन और मनुष्य के बीच मे है. वह भगवन के सामान ही पूज्य है. अगर किसी मनुष्य को भगवन के प्रति कृतज्ञता दर्शनी है तोह पहले उन्हें अपने पितरो की पूजन होगा. पितरो का अपने आने वाली पीढ़ी पह एक गहरा प्रभाव और पकड़ बनायीं हुई है. माना जाता है की अगर आपके पित्र आपसे  [Read More..]

Category: How to do

वास्तु पूजा की कार्यविधि

वास्तु  पूजा  के  महत्तव वास्तु  एक  भारतीय  विज्ञान  है  जिसका प्राचीन काल से  उपयोग  किया जा  रहा  है  | किसी  भी  नवनिरीत  निर्माण  मैं  तभी  प्रवेश  किया  जाता  है  जब  उस  मैं  वास्तु  देवता  का  पूजन  हो  चूका  हो  | वास्तु  देवता  की  उत्पति  पञ्च  तत्वों  के  मेल से  हुई  है  जैसे  अग्नि , वायु , भूमि ,जल  और  आकाश  | किसी  भी प्रकार  का  असंतुलन  जीवन  मैं , असंतुलित  [Read More..]

Category: How to do